Mahatma Gandhi Ke Anmol Vachan Suvichar in Hindi महात्मा गाँधी के अनमोल विचार

Mahatma Gandhi Ke Anmol Vachan

Mahatma Gandhi Ke Anmol Vachan Suvichar in Hindi महात्मा गाँधी के अनमोल विचार


चिंता से अधिक कुछ और शरीर को इतना बर्बाद नहीं करता, और वह जिसे ईश्वर में थोडा भी यकीन है उसे किसी भी चीज के बारे में चिंता करने पर शर्मिंदा होना चाहिए। मैं तुम्हे शांति का प्रस्ताव देता हूँ. मैं तुम्हे प्रेम का प्रस्ताव देता हूँ. मैं तुम्हारी सुन्दरता देखता हूँ.मैं तुम्हारी आवश्यकता सुनता हूँ.मैं तुम्हारी भावना महसूस करता हूँ।



हम जो दुनिया के जंगलों के साथ कर रहे हैं वो कुछ और नहीं बस  उस चीज का प्रतिबिम्ब है जो हम अपने साथ और एक दूसरे के साथ कर रहे हैं। सत्य एक है, मार्ग कई।
कुछ करने में, या तो उसे प्रेम से करें या उसे कभी करें ही नहीं।

Mahatma Gandhi Ke Anmol Vachan
Mahatma Gandhi Ke Anmol Vachan

हमेशा अपने विचारों, शब्दों और कर्म के पूर्ण सामंजस्य का लक्ष्य रखें। हमेशा अपने विचारों को शुद्ध करने का लक्ष्य रखें और सब कुछ ठीक हो जायेगा। जिस दिन प्रेम की शक्ति, शक्ति के प्रति प्रेम पर हावी हो जायेगी, दुनिया में अमन आ जायेगा।




क्रोध को जीतने में मौन सबसे अधिक सहायक है। गरीबी दैवी अभिशाप नहीं बल्कि मानवरचित षडयन्त्र है । थोडा सा अभ्यास बहुत सारे उपदेशों से बेहतर है। जो लोग अपनी प्रशंसा के भूखे होते हैं, वे साबित करते हैं कि उनमें योग्यता नहीं है।

Mahatma Gandhi Ke Anmol Vachan
Mahatma Gandhi Ke Anmol Vachan

पुस्तकों का मूल्य रत्नों से भी अधिक है, क्योंकि पुस्तकें अन्तःकरण को उज्ज्वल करती हैं। चरित्र की शुद्धि ही सारे ज्ञान का ध्येय होनी चाहिए। कायरता से कहीं ज्यादा अच्छा है, लड़ते-लड़ते मर जाना। अहिंसा ही धर्म है, वही जिंदगी का एक रास्ता है।








Sandeep Maheshwari Quotes in Hindi 
Top 26 Santa Banta Very Funny Jokes In Hindi 
National Freedom Day 2017 Facts