Funny Haryanvi Jokes in Hindi jatt status for whatsapp in hindi



Funny Haryanvi Jokes in Hindi jatt status for whatsapp in hindi


मूळा कुम्हार की दो छोरी न्यारे-न्यारे गामां में ब्याह राक्खी थी । एक बै मूळा दोनूं छोरियां तै मिलण-फेटण चल्या गया ।

पहल्या वो बड्ड़ी छोरी धोरै गया, उन्हैं कुछ खेती-बाड़ी कर राक्खी थी, वो बोल्ली - बाबू, ईब-कै रामजी नहीं बरस्या, तै मैं तै कतई मर-गी, ईब-कै हमनै खेती घणी कर राखी सै ।

मूळा दूसरी छोरी धोरै गया, तै वो बोल्ली - बाबू, ईब-कै भांडे घणे पाथ राखे सैं, जै रामजी बरस ग्या, तै मैं मर-गी ।

मूळा घरां आ-कै आपणी कुम्हारी तैं बोल्या - भागवान, चून (आटे) का कट्टा त्यार कर ले, एक छोरी तै जरूर मरैगी !!



एक बै जाट और तेली नै आहमी-साहमी (आमने-सामने) दुकान खोल ली - जाट नै गुड़ की अर तेली नै तेल की ।

एक दिन दोफाहरे ताहीं उनकी किस्सै की बिक्री ना हुई, तै दोनूंआं नै यो फैसला करया अक बारी-बारी एक दूसरे की दुकान पै जा-कै एक दूसरे की बोहणी करवा देवैंगे ।

तै पहल्यां तेली गया जाट की दुकान पै, अर बोल्या - "भाई, एक बोतल गुड़ दिये" । जाट बोल्या - "अरै बावळी-बूच, गुड़ बोतल के हिसाब तैं नहीं, किलो के हिसाब तैं मिल्या करै - जा फिर दुबारा आ ।"

तो तेली फिर आया और बोल्या - "भाई, एक किलो गुड़ दिये बोतल में" ।

जाट फिर बोल्या - "ना भाई, तेरै तै कोनी समझ आई, तू न्यूं कर अक तू बैठ मेरी दुकान पै - अर मैं गुड़ लेण आऊंगा" ।

तेली जाट की दुकान पै बैठ-ग्या अर जाट आया गाहक बन कै ।

जाट बोल्या - भाई, एक किलो गुड़ दिये ।

तेली सुनते ही बोल्या - "बोतल ल्याया सै" ?





एक बै जाट और राजपूत में बहस छिड़ गई अक कौन बड्डा । जाट बोल्या- बता तू क्यूकर बड्डा ?

राजपूत - मैं ठाकुर, अर राजपूत ।

जाट - मैं चौधरी, अर आंडी जाट ।

राजपूत - मैं छत्री (क्षत्रिय) ।

जाट - मैं तम्बू !

राजपूत - यो 'तम्बू' के होवै है ?

जाट - यो तेरी 'छतरी' का फूफा !!




gandhi ji ke anmol vachan in hindi 
latest marwadi chutkule 
navratri shayari in hindi