Funny Haryanvi Jokes in Hindi haryanavi joke in hindi



Funny Haryanvi Jokes in Hindi haryanavi joke in hindi


एक बै बरात में घणां काला छौरा चला गया......फ़ेरे होणे के बाद लडकी वाले कहण लागे....इस काले छौरे नै तै...याहडे ही छौड जाओ.....बराती परेशान और हैरान हो के.....छौरी आळा तै बूजणं लागे....थम के करोगे...इस काले का....?

छौरी वाले बोले....रात म्हारी भैंस ब्याई थी....और उसका काटडा मर गया.....काले नै दिखा कै.....भैंस का दूध काढ लेंगें ।





सगाई आळे आ-कै बैठे थे - बूझण लागे : चौधरी साहब थारा के गौत सै?

चौधरी बोल्या : म्हारा गौत सै बहड़के - और थारा गौत के सै ?

सगाई आळे : म्हारा गौत सै ढांढे !

चौधरी : यो रिश्ता होणा तै मुश्किल लागै सै ।

सगाई आळे : क्यूं ?

चौधरी : गौत मिल्लण का खतरा सै ।

"पर म्हारा और थारा गौत तै न्यारा-न्यारा सै"

"ईबै तै न्यारा-न्यारा सै पर आगै जा-कै मिल ज्यागा"

"वो क्यूकर ?"

"म्हारे बहड़के बड्डे हो-कै ढांढे बण-ज्यांगे"



एक बारात पहुंची बागड़ के एक गांव में । उन बारातियों में तीन आदमी काणे थे । ऐसे लोगों को चाहिये तो यह कि वे पीछे बैठें ताकि सबकी निगाह उनकी तरफ नहीं पड़े । पर फेरे होने के समय वे तीनों डाक्की सबसे आगे बैठ गये - दूल्हे के सामने ।

लड़की वाले चौधरी का नाई वहीं बैठा था, बंदड़े (दूल्हे) को बीजणे से हवा करने के लिए । जब पंडित ने मंत्र पढ़ने शुरू किये तो नाई चौधरी से बोल पड़ा "चौधरी, इस बाहमण ताहीं कह दे अक फेरे तगाजे तैं करवा दे, सारी बारात काणी होती आवै सै – कदे इस बंदड़े का नंबर ना आ-ज्या" !!