Chankya Suvichar In Hindi Anmol Suvichar On Images


Chankya Suvichar In Hindi Anmol Suvichar On Images

विश्व जननी के अनेक रूपों में से एक रूप बेटी है, सदा उसका सम्मान करों क्योंकि वह है तो ही तुम
हो सही अमृत है, बेटी है तो कल है ।



कोई हमसे जीत ना पावे,
चले चलो, चले चलो
मिट जावे जो टकरावे, चले चलो
भले घोर अंधेरा छावे, चले चलो, चले चलो
कोई राह में ना थाम जावे, चले चलो
अब डर नहीं मन में आवे, चले चलो, चले चलो
कोई कितना भी बहकावे, चले चलो
जो होना है हो जावे, चले चलो, चले चलो
अब सर ना कोई झुकावे, चले चलो


जो मनष्यु जन्म
लेता है वो जो
कुछ भी पाता है,
अपने कार्यो से प्राप्त
कर्मफल से उसे सदा
याद रखना चाहिए, कि
उसके हर अच्छे बुरे
कर्मो को र्इश्वर देख
रहा है ।